रविवार, 31 मई 2009

तम्बाकू रहित विश्व दिवस



क्या आप तम्बाकू के किसी उत्पाद गुटका सुरती सिगरेट आदि का सेवन करते हैं तो आज के दिन इन चित्रों को देखे और इसमे अपनी छवि भी जोड़ लें ये वो लोग हैं जिनको तम्बाकू ने अपना शिकार बनाया है


क्या आप इन चित्रों में अपने को देखना चाहते हैं तो आज ही विचार करें एक बात और
महत्वपूर्ण है की तम्बाकू का पौधा अकेला ऐसा पौधा है जिसके किसी भी भाग को कोई प्राणी नहीं गलती से३ भी नहीं खाता कई जगह किसान इसे अन्य फसलों से जानवरों को दूर रखने के लिए झाड़ की तरह प्रयोग करतें है इस तम्बाकू को एक फंगस व मनुष्य ही सेवन करता है

7 टिप्‍पणियां:

bhawna ने कहा…

ACHHI JAANKAARI DI HAI , HAAN AB SHAYAD IN CHITRON SE KUCH TO ASAR PADEGA MERE BLOG PAR TIPPANI KE LIYE DHANYAVAAD :)

RAJIV MAHESHWARI ने कहा…

इन चित्रों को सिगरेट की डिब्बी और गुटके के पेकेट पर छापना अनिवार्य कर देना चाहिए ...

reo ने कहा…

बहुत ही हाहाकारी चित्र लगा रक्खा है साहब ,आश्चर्य की बात है इतनी विभीषिका के बाद भी आदमी तम्बाकू का सेवन नहीं छोड़ पा रहा है .मैं भी उनमे से एक हूँ. भगवान् सबको और मुझे भी सद्बुद्धि दें .जय चार्वाक ...

reo ने कहा…

बहुत ही हाहाकारी चित्र लगा रक्खा है साहब ,आश्चर्य की बात है इतनी विभीषिका के बाद भी आदमी तम्बाकू का सेवन नहीं छोड़ पा रहा है .मैं भी उनमे से एक हूँ. भगवान् सबको और मुझे भी सद्बुद्धि दें .जय चार्वाक ...

Arvind Mishra ने कहा…

oh !

gita ने कहा…

जनाब भारत सरकार कही नाराज न हो जाए ,आप तो सरकार का राजस्व घटाने लगे हे ,कई १०० साल पहले से मनुष्य तम्बाकू का सेवन अतिथि सेवा में करता रहा हे ,एक बात साफ हे की परमात्मा ने जो कुछ भी बनाया हे उस से मनुष्य को लाभ और जो मनुषय ने बनाया उसी से नुकसान होता हे ,विद्वान तो पानी साग -भाजी तक न खाने की सलाह देते हे ,और मदिरा के दो पेगों की सलाह देते हे

Udan Tashtari ने कहा…

डरने को काफी है!!